Sonalika Prasad Journey From Journalism To Actress One More Bihari Enters Silver Screen

पत्रकारिता से रूपहले पर्दे पर आकर छाई एक और बिहारी बाला सोनालिका प्रसाद

भोजपुरी फ़िल्म जगत में इन दिनों एक ऐसी कलाकार की चर्चा है जिनकी अभी तक एक भी फ़िल्म रिलीज़ नहीं हुई है लेकिन दमदार अभिनय , संवाद अदायगी और नृत्य कौशल की वजह से फ़िल्मी दिग्गजों के दिलों में जगह बना ली है । आमतौर पर किसी भी कलाकार की क्षमता का परीक्षण उनकी फ़िल्म रिलीज़ होने के बाद की जाती है लेकिन गोल्डन गर्ल के नाम से मशहूर बिहार के पटना निवासी सोनलिका प्रसाद की पहली फ़िल्म राजतिलक के रिलीज़ होने के बाद तीन और फ़िल्में रिलीज़ को तैयार है । पटना की मूल निवासी सोनलिका प्रसाद की फ़िल्म जगत में एंट्री की भी एक अलग कहानी है । संगीत और कत्थक नृत्य में डिप्लोमा हासिल करने के बाद उन्होंने पत्रकारिता को अपना कैरियर के रूप में चुना और एक चैनल में बतौर एंकर अपनी सेवा देनी शुरू कर दी । लेकिन धीरे धीरे उनका रुझान अभिनय की ओर बढ़ता गया । गोल्डन गर्ल सोनलिका की पहली फ़िल्म राजतिलक में उनके अपोज़िट हैं अरविंद अकेला कल्लू । उनकी दूसरी फ़िल्म लैला मजनू की भी शूटिंग पूरी हो चुकी है और उसमें वो प्रदीप पांडेय चिंटू और अक्षरा सिंह के साथ नज़र आएँगी । यही नहीं हाल ही में उन्होंने दो और फ़िल्मों की शूटिंग पूरी की है ।

“राजतिलक” के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा की फ़िल्म के ट्रायल में उन्होंने फ़िल्म देखी तो लगा की निर्माता  प्रदीप के शर्मा व अनिता शर्मा के सहयोग से

निर्देशक रजनीश मिश्रा ने  भव्य और लीक से  हटकर एक फ़िल्म का निर्माण किया  है , जिसमे एक्शन के साथ साथ पारिवारिक संवेदनाओ को भी बांधा गया है और कहा  जाए तो इस फ़िल्म में हर एक आर्टिस्ट ने अपना सौ प्रतिशत दिया है।

सोनालिका प्रसाद को भी अपने इस फ़िल्म से बहुत ही उम्मीदें है ।

रजनीश मिश्र की भोजपुरी इंडस्ट्री में ये चौथी फ़िल्म है बाकी पहले की तीनों फिल्मो ने तो पूरा धमाल मचा के रख दिया।और ये फ़िल्म भी दर्शकों में धमाल मचाएगी।

Article By :