nav-left cat-right
cat-right

Maa Entertainment Releases Teaser Of Bhojpuri Film – Ab Ek Vivah Aisa Bhi...

मां एंटरटेनमेंट द्वारा भोजपुरी फिल्म “अब एक विवाह ऐसा भी” का टीजर रिलीज़

म्यूज़िक वर्ल्ड में मां एंटरटेनमेंट ने मचाई धूम

मां एंटरटेनमेंट की अपकमिंग भोजपुरी फिल्म एक विवाह ऐसा भी का टीजर कल रक्षा बन्धन के मौके पर रिलीज किया जाएगा। आपको बता दें कि मां एंटरटेनमेंट फिल्म इंडस्ट्री में एक उभरती हुई कम्पनी है जो म्यूज़िक राइट्स लेती है और कई फिल्मों में प्रेजेंटर के रूप में भी जुड़ी हुई है। इस कम्पनी से जुड़कर लोग बहुत खुश हैं और हर कोई इससे जुड़ने की ख्वाहिश रखता है।

निर्देशक प्रवीण कुमार गुडूरी की फिल्‍म एक विवाह ऐसा भी के निर्माता अशोक शुक्ला और गीता तिवारी हैं।  यह फ़िल्म शादी विवाह के माहौल की है, जो एक एंटरटेनर होते हुए भी कई मैसेज देती है ।

मां एंटरटेनमेंट के राजेश गुप्ता का कहना है कि मै चाहता हूं कि इस फ़िल्म को दर्शक पूरे परिवार के साथ सिनेमाघरों मेे जाकर देखे और पूरा मनोरंजन लें।

विवान इंटरटेंमेंट प्रस्‍तुत और गीता तिवारी प्रोडक्‍शन कृत भोजपुरी फिल्‍म एक विवाह ऐसा भी मेे अभिनेता कुणाल तिवारी औऱ काजल यादव लीड रोल में हैं । इनके अलावा जैतोष कुमार, अपूर्व मिश्रा, उमाकांत राय, अनूप अरोड़ा, संजय वर्मा और नीलम पांडेय जैसे कलाकार भी मौजूद हैं।  आपको बता दें कि फ़िल्म का फर्स्ट लुक रिलीज़ होते ही वायरल हो गया है और अब इसके टीजर से भी दर्शकों को ढेरों उम्मीदें हैं।

फिल्‍म एक विवाह ऐसा भी के निर्माता अशोक शुक्‍ला और गीता तिवारी  का मानना है कि निर्देशक प्रवीण कुमार गुडूरी ने फिल्‍म की कहानी को बड़े प्रभावी रूप से पेश किया है। संगीतकार दामोदर राव और मुन्‍ना दुबे हैं जबकि गीतकार मुन्‍ना दुबे, कृष्णा बेदर्दी और पवन पांडेय हैं और फिल्म के लेखक ओम यादव हैं। फिल्म के कार्यकारी निर्माता महेश उपाध्‍याय और उमाकांत राय हैं। फिल्म के एक्‍शन डायरेक्टर श्रवण और कोरियोग्राफर सुदामा मिंज है। संकलन विकाश पवार ने किया है जबकि छायांकन माही सेरला ने किया है ।

  

मां एंटरटेनमेंट म्यूज़िक द्वारा भोजपुरी फिल्म “अब एक विवाह ऐसा भी” का टीज़र लॉन्च होने जा रहा है। और इस फिल्म के सभी गाने मां एंटरटेनमेंट म्यूज़िक के सभी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होंगे। उललेखनीय है कि हाल हो में मां एंटरटेनमेंट म्यूज़िक कंपनी लॉन्च हुई है जिसके काम करने का तरीका सबको पसंद आ रहा है। जल्द रिलीज़ होने वाली भोजपुरी फिल्म “अब एक विवाह ऐसा भी” का म्यूज़िक राइट्स मां एंटरटेनमेंट म्यूज़िक कंपनी के पास ही है। इस फिल्म का टीजर मां एंटरटेनमेंट म्यूज़िक द्वारा रिलीज़ किया जा रहा है।यह म्यूज़िक कंपनी संगीत प्रेमियों मेे दिन प्रतिदिन लोकप्रिय हो रही है।

Arvind Akela Kallu Is Celebrating His Birthday Today...

आज अपना जन्मदिन मना रहे हैं अरविंद अकेला कल्लू

भोजपुरी फ़िल्म जगत में ऐसे कम कलाकार ही है जिन्होंने होश संभालते ही लोगो का प्यार पाना शुरू कर दिया था । अपनी गायकी से और अब गायकी के साथ साथ अभिनय से सबका दिल जीतने वाले युवा सुपर स्टार अरविंद अकेला कल्लू उन गिने चुने लोगो मे से एक है , जिनकी शोहरत की उम्र उनकी उम्र से थोड़ी सी ही कम है । मात्र पांच साल की उम्र में अपने कलाकार पिताजी के साथ मंच शेयर कर अपनी मधुर आवाज से वहाँ मौजूद लोगों की जबरदस्त तालियां बटोरने वाले अरविंद अकेला कल्लू का आज है जन्मदिन ।

बिहार के बक्सर जिले में एक गाँव ऐसा भी ही जिसका ऐतिहासिक व धार्मिक महत्व है । जी हां , अहिरौली गांव वह गांव है जहां श्री राम जी के स्पर्श मात्र से पत्थर बनी माता अहिल्या को मुक्ति मिल गई थी । इसी गांव में एक कलाकार परिवार काशेश्वर चौबे व किरण देवी के घर एक बालक का जन्म हुआ । कल्लू बताते हैं की बचपन मे वे काफी कमजोर थे इसीलिए उन्हें आम बच्चो की तुलना में माता पिता का प्यार कुछ अधिक ही मिला । कल्लू बचपन से ही5 अपने पिताजी के करीब थे । उनके पिताजी खुद एक कलाकार थे और नाटक में अभिनय व निर्देशन की बागडोर संभालते थे5 ।

कल्लू उनके साथ नाटक देखने जाया करते थे । छोटी उम्र में ही कल्लू को गुनगुनाते देख उनके पिताजी ने पहली बार 15 अगस्त को गांव में ही आयोजित एक कार्यक्रम में गाना गाने के लिए प्रेरित किया । कल्लू ने गाना गाया और वहां मौजूद लोग झूम उठे । पिताजी को एहसास हो गया कि एक और कलाकार ने उनकी विरासत को आगे बढ़ाने का जिम्मा ले लिया है । वह दौर अल्बम का था और कल्लू की आवाज की चर्चा दूर दूर तक होने लगी थी , इसीलिए उनके पिताजी कल्लू को पटना ले गए और वहाँ की म्यूजिक कंपनी बी सीरीज के लिए कल्लू का पहला एल्बम गवनमा कहिया ले जइबा खुद प्रोड्यूस किया । इस एल्बम के बाद कल्लू ने पीछे मुड़कर नही देखा । कल्लू की गायकी की चर्चा जब चारो ओर फैलने लगी तो मात्र 12 साल की उम्र में ही उसे पवन सिंह की फ़िल्म गठबंधन प्यार के में एक गाने में रुपहले पर्दे पर आने का मौका मिला ।

बतौर बाल कलाकार कल्लू ने उस दौरान निरहुआ और प्रवेश लाल के साथ तू ही मोर बालमा , मनोज तिवारी के साथ भैया हमार दयावान , कलुआ भइल सयान जैसी कई फिल्मों में काम किया । और फिर निर्देशक अरविंद चौबे ने पहली बार अपनी फिल्म दिल भइल दीवाना में बतौर हीरो पर्दे पर उतारा । तभी से लेकर अभी तक कल्लू ने तीस से भी अधिक फिल्मों में अभिनय किया है और हर फिल्म में उनका अलग अलग रूप दर्शकों को देखने को मिला है जिनमे रब्बा इश्क़ न होवे , आवारा बलम , रंग , दिलवर , पत्थर के सनम , राजतिलक सहित कई फिल्मों में कल्लू का अनेक रंग को दर्शकों ने देखा है ।

Sunny Shah – The Manager Af Irrfan Khan started A Talent Management Company...

इरफान खान के मैनेजर रहे सन्नी शाह ने शुरू की टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी

TCW अर्थात टैलेंट क्रॉस ओवर वर्ल्ड के तहत सन्नी शाह, फिल्म   टेक्नीशियन ‘डायरेक्टर्स, राइटर्स और सिनेमैटोग्राफर. एडिटर्स , ऐक्शन डायरेक्टर्स का काम को मैनेज करेंगे

टैलेंट मैनेजमेंट आज बॉलीवुड की एक बड़ी वर्किंग फील्ड है और इस क्षेत्र मेे इंडस्ट्री के विख्यात बिज़नस मैनेजर सन्नी शाह ने भी कदम रख दिया है। जी हां, भोजपुरी सुपर स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ, आम्रपाली दुबे, प्रवेश लाल यादव और प्रदीप पांडेय ‘,चिंटू के मैनेजर के रूप में काम कर रहे सन्नी शाह ने टैलेंट और टेक्नीशियन के लिए मैनेजमेंट कंपनी शुरू की है जिसका नाम है TCW अर्थात टैलेंट क्रॉस ओवर वर्ल्ड। इस कंपनी के तहत सन्नी शाह फिल्म के टेक्नीशियन डायरेक्टर्स, राइटर्स ‘,  एडिटर्स ‘ ऐक्शन डायरेक्टर्स सिनेमैटोग्राफर के काम को संभालेंगे।

आपको बता दें कि सन्नी शाह बॉलीवुड में दशकों से काम कर रहे हैं। उन्होंने Since 1988 मेे फिल्म प्रोडकशन मैनेजर, फिल्म प्रोड्युसर और  बिज़नस मैनेजर के रूप में बॉलीवुड में अपना सफर शुरू किया था। उन्होंने वर्षों तक हाल ही मेे इस दुनिया को अलविदा कहने वाले एक्टर इरफान खान के साथ काम किया था। साथ ही सन्नी शाह तुषार कपूर, रोनित रॉय, आर्या बब्बर, राजेश शर्मा, मिलिंद गुणाजी और ईशा कोपिकर नारंग जैसे आर्टिस्ट का वर्क मैनेज करते आ रहे हैं।

      

इतने वर्षों के अपने अनुभव और तमाम स्टार्स के साथ काम करने की खुशकिस्मती रखने वाले सन्नी शाह ने अब टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी शुरू की है और उन्हें यकीन है कि वह उभरती हुई प्रतिभाओं को इंडस्ट्री मेे काम दिलवाने मेे और उनका कैरियर बनाने में एक महत्वपूर्ण योगदान देंगे।

सन्नी शाह को बॉलीवुड में स्टार्स से लेकर डायरेक्टर, प्रोड्युसर और तमाम टेक्नीशियन भली भांति जानते हैं, इसलिए उन्हें टैलेंट को उसकी मंज़िल तक पहुंचाने में आसानी होगी।

ए – मेल से प्रोफाइल बेज सकते है

talentcrossoverworld@gmail.com

The Efforts Of Actress Kanak Pandey And Saikat Kumar Made The Return Of Purvanchal Residents Possible...

एक्ट्रेस कनक पाण्डेय और सैकत कुमार की कोशिशों से पूर्वांचल वासियों की घर वापसी संभव

पूर्वांचल प्रवासी मिलन संस्था ने कराई मजदूरों की सकुशल देशवापसी

स्वदेश वापसी अभियान के तहत सैकड़ों पूर्वांचल के भारतीयों को सयुंक्त अरब अमीरात से वापस भेजा गया

पूरी दुनिया इस समय बहुत कठिन दौर से गुजर रही है, विश्व भर में लोग कोरोना की मार से बेहाल हैं, ऐसे में श्रमिकों का हाल किसी से छुपा नहीं है।  देश और विदेश में फैले पूर्वांचलवासी श्रमिक बहुत परेशान और बेहाल हैं। दुबई में लगभग ५ लाख पूर्वांचली श्रमिक कार्यरत थे, पर कोरोना की मार ने उनकी नौकरियां छीन ली, उसके बाद सभी घर वापसी के लिए परेशान हो गए। परदेस से अपने देश लौटने की बेचैनी बढ़ने लगी, पर कोई फ्लाइट न होने के कारण सभी अपने घर नहीं आ पा रहे थे और दर दर भटक रहे थे। ऐसे में दुबई की संस्था पूर्वांचलियों के दुःख-सुख की साथी “पूर्वांचल प्रवासी मिलन” और भोजपुरी अभिनेत्री कनक पांडेय एक मसीहा बनकर सामने आई। उनसे अपने देशवासियों का दुःख देखा नहीं गया और जुट गई मजबुर हिन्दुस्तानियों की सकुशल घर वापसी के अभियान से।

जबसे लॉक डॉउन शुरू हुआ कनक पांडेय काफी वर्कर्स को रोज़ खाना खिलाती आ रही हैं। वह इस नेक काम मेे अब भी लगी हुई है। जब वह मजदूरों को खाना देने जाती थी, तो उनका दर्द उनसे देखा नहीं जाता था, लोग अपना हाल सुनाते सुनाते रोने लगते थे, फिर कनक पांडेय ने उन्हें उनके घर वापस भेजने का सोच लिया। जब कनक पांडेय ने पूर्वांचल प्रवासी मिलन (पी पी एम) के चेयर मैन सैकत कुमार से मजदूरों का दर्द बयान किया और अपनी सोच को सामने रखा तो उन्होंने कनक का पूरा सहयोग दिया। उनके साथ मिलकर कनक पांडेय ने इस मिशन को कामयाब बनाया और सैकड़ों मजदूरों और उनके हजारों घरवालों की दुआएं पाईं। कनक पांडेय सैकत कुमार की कंपनी की पार्टनर भी हैं और इस नेक पहल को करके उनके दिल को जो सुकून मिला वो अद्वितीय है। कनक पांडेय कहती हैं “सैकत कुमार जी का जितना भी शुक्रिया अदा किया जाए वो कम है।उनके इस योगदान के बिना इतना बड़ा काम संभव नहीं था। सैकत कुमार पूर्वांचल प्रवासी मिलन के चेयरमैन होने के साथ साथ स्काई कैप इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट लिमिटेड दुबई यूएई के सीआईओ और फाउंडर भी हैं।

आपको बता दें कि कनक पांडेय ने सैकत कुमार जी के सहयोग से स्वदेश वापसी अभियान के तहत ३५० पूर्वांचल क्षेत्र के भारतीयों को सयुंक्त अरब अमीरात से वापस लखनऊ और जयपुर १९ तथा २० जून को आईके इंटरनेशनल एयरपोर्ट से स्पाइस जेट की फ्लाइट से भेजा गया। भारत के अन्य शहरो जैसे गया, गुवाहाटी, कोलकाता के लिए भी उडान जल्द ही उड़ान भरेंगी| उनकी वाराणसी की फलाइट 29 June ko उड़ान के लिए तैयार है।

  

ये सब जो पॉसिबल हुआ उसके पीछे कुछ और लोगो की भी बहुत ही महतवपूर्ण भूमिका रही है, जिनमे प्रमुख नाम श्री विपुल जी, भारत के कांसुलेट जेनेरल, श्री अजय सिंह, स्पाइस जेट के चेयरमैन, श्री संजय खन्ना, आईके इंटरनेशनल एअरपोर्ट के सीइओ और श्री अवनीश कुमार अवस्थी उत्तर प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी, श्री बाबूलाल मरांडी, नेता विपक्ष, झारखण्ड, श्री सुनील तिवारी, रांची झारखण्ड के विपक्ष के नेता के पोलिटिकल एडवाइजर के नाम उललेखनीय है। साथ ही कुछ और नाम का ज़िक्र भी जरूरी है जैसे, विकास, मनोज सिंह, रवि, मानस, गुरमीत, अशीम भाई, शाहीन भाई और प्रदीप शुक्ल जी।

कनक पांडेय का कहना है कि पूर्वांचल प्रवासी मिलन संस्था ऐसे लोगो की मदद हमेशा ही करती रहेगी तथा कोई भी किसी प्रकार की मदद के लिए हमें संपर्क कर सकता है । पूर्वांचल प्रवासी मिलन की स्थापना का उदेश्य ही बिहार, झारखण्ड तथा उत्तेर प्रदेश के लोगो के बीच एक अच्छे सम्बन्ध को स्थापित करना है , खासकर वो लोग जो इन प्रदेशो से आकर सयुंक्त अरब अमीरात में रह रहे है I

कनक पांडेय के इस जज्बे को सलाम, कि उन्होंने परेशान हाल और मजबुर मजदूरों का दर्द समझा और उन्हें उनके परिवार वालों से मिलवाया।

Film Actor And Youth President Of Karni Sena Surjeet Singh Rathore Defends T series Owner Mr Bhushan Kumar...

फ़िल्म अभिनेता ओर करनी सेना के युवा अध्यक्ष सूरजीत सिंह राठौड़ ने टी सीरीज़ के मालिक श्री भूषण कुमार का बचाव

फ़िल्म अभिनेता ओर करनी सेना के युवा अध्यक्ष सूरजीत सिंह राठौड़ ने टी सीरीज़ के मालिक श्री भूषण कुमार का बचाव करते हुए सोनू निगम पर उनके ही दिए हुए बयान को दोहराते हुये कहा है की सोनू निगम अब्बू सलीम को कैसे जानते हैं? इसकी जांच होना चाहिये,आपको बता दे कि कुछ दिन पहले सोनू निगम ने एक वीडियो बनाया था जिसमें उन्होंने बताया था की भुसन कुमार उनके पास आये थे ओर अबू सलेम से बचाने का गुहार लगा रहे थे, सूरजीत सिंह राठौड़ ने सोनू  निगम से पूछा है कि सोनू निगम जी आप  अबू सलीम को जानते थे तभी तो भूषण कुमार आपके पास आके बचाने का गुहार लगा रहे थे?, सोनू निगम के बोले गये सब्दो पे धयान देते हुये महारष्ट्र सरकार को जांच करानी चाहिये, सूरजीत  सिंह राठौर ने आगे बताया की टी सीरीज़ को पूरी दुनियाँ जानती है श्री भुसन कुमार के पिता स्वर्गीय श्री गुलशन कुमार जी जो हमेशा नये सिंगर को प्रमोट करते थे उन्होंने हिंदी पंजाबी भोजपुरी गुजराती राजस्थानी सभी  अलग अलग भसायें गाने वाले नए सिंगर को चांस दे कर उनको एक मुकाम पर पहुंचाया था, उसमें सोनू निगम भी शामिल है सोनू निगम को स्वर्गीय श्री गुलशन कुमार जी ने दिल्ली से अपना पैसे पे सोनू निगम को मुम्बई बुलाया था, और आज सोनू निगम जिस मुकाम पर है उसका सारा श्रेय टी सीरीज़ को जाता है,पर आज अपने लालच के वजह से सोनू निगम टी सीरीज़ को बदनाम कर रहे हैं क्योंकि उनके पास कोई काम नहीं है तो वह चाह रहे हैं कि वह टी सीरीज़  पर दबाव बनाये ताकी उनका दाल रोटी चले,सूरजीत सिंह राठौड़ ने भुसन कुमार और टी सीरीज के  सपोर्ट करने सामने आगये है,उनका साफ साफ़ कहना है,वो भुसन कुमार के साथ हैं और रहेंगे

  

उन्होंने महाराष्ट्र सरकार से सोनू निगम की जांच की मांग की है,सूरजीत सिंह राठौड़ ने साफ़ साफ़ टी सीरीज़ ओर भुसन कुमार के सपोर्ट में आ खड़े हुये है,,अब देखना ये है कि महारष्ट्र सरकार सुरजीत सिंह राठौड़ के दिये हुए बयान को कितना गम्भीरता से लेती है, आगे उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के लिए भी जांच की मांग की है, सूरजित सिंह ने सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या है या हत्या  है इसकी सरकार सी॰बी॰आई॰ जाँच किस लिए नही करवा रही है उन्होंने बोला कि ये करनी सेना की माँग है CBI जाँच हो जो दोसी होगा उसको सजा मिले,

Writer Director Kumar Neeraj – A Name That Needs No Introduction Today Due To Its Hard Work And Passion...

राईटर डायरेक्टर कुमार नीरज…. एक ऐसा नाम जो अपने कठिन परिश्रम ओर अपने जुनून की बदौलत आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैंl

राईटर डायरेक्टर कुमार नीरज…. एक ऐसा नाम जो अपने कठिन परिश्रम ओर अपने जुनून की बदौलत आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं… बिहार के वैशाली जिले में जन्मे कुमार नीरज पर भगवान की कृपा कुछ ऐसी रही कि इन्होंने बचपन से ही अपने मंजिल की ओर बढ़ना शुरू कर दिया था…या फिर यूं कह सकते हैं कि बचपन से ही कुमार नीरज को स्ट्रगल करना पड़ा था…

महज 2 साल की उम्र में कुमार नीरज ने अपने पिता को खो दिया था… छोटे से उम्र में ही अपने पिता का साया सर से खोने वाले  कुमार नीरज और उनकी फैमली ग़रीबी को दूर करने के लिए अपना जिला छोड़ परिवार के साथ गाजियाबाद के साहिबाबाद में आ गयी… कुमार नीरज की पढ़ाई लिखाई सब गाजियाबाद से हुई,बचपन से क्रिकेट में तेज़ बोलिंग करने के कारण बॉलिंग के लिए अंडर सिक्सटीन में गाजियाबाद से up के लिए सलेक्शन भी हुआ पर यहां भी गरीबी ने साथ नहीं छोड़ा और ₹65000 कमेटी को ना देने की वजह से उनको क्रिकेट से बाहर होना पड़ा,

अपने दोस्त जो शादियों में कैमरा से शूटिंग करता था,उसके साथ शादियों में कैमरे कंधे पर लेकर सदियों की वीडियों रिकॉर्डिंग करने लगे,ओर कुमार नीरज को येही से कैमरा ओर फ़िल्म के तरफ झुकाव बढ़ता गया, कहानी वो पहले से लिखते थे,उस टाइम माया पूरी फिल्म मैगजीन में सब डायरेक्टर का ऑफिस का अड्रेस हुआ करता था, कुमार नीरज अपनी कहानी महेश भट्ट को लिख के भेजा करते थे,अब वो बम्बई जाना चाहते थे जो अब मुम्बई हो गई है,पर घरवाले साथ देने को रेडी नहीं थे, ऊपर से गरीबी मुंबई जाने का सपना पूरा होता दिख नही रहा था उसी टाइम एक क्रिकेट मैच में कुछ पैसे जीतने वाले कुमार नीरज बिना कुछ किसी को बोले दिल्ली से1999 में मुंबई का ट्रेन पकड़ लिए और अपना सपना पूरा करने मुंबई आ गए पर अभी तो खेल शुरू हुआ था कुमार नीरज का मुंबई में ना कोई रहने का ठिकाना  था ना कोई खाना खिलाने वाला कुछ दिन पार्क में सोने के बाद जुहू के हरे कृष्णा मंदिर में जाकर खाना खाते समय एक पंडित की नजर उन पर पड़ी पंडित को समझते देर नहीं लगा लड़का भागा हुआ है….

पंडित ने कुमार नीरज  को साइड में लाकर सख्ती से पुछा तो 1 दिन से भुखे कुमार नीरज  ने रोते हुए अपनी सारी कहानी पंडित को बता दिया,पंडित ने  घर बापस लौटने को पैसे दिए कुमार नीरज को पर कुमार नीरज को फ़िल्म लाइन में ही काम करना था,ये उनका जुनून था ओर गाजियाबाद लौटना नामंजूर था… कुमार नीरज ने हाथ पैर पकड़ के पंडित से बोला… आप सिर्फ मुझे रहने के लिए जगह दे दो और मुझे शूटिंग में काम दिलवा दो.. हरे कृष्णा मंदिर के सामने  बहुत सारे घरों में शूटिंग होती थी,पंडित को कुमार नीरज के जिद के आगे झुकना पड़ा और वो उनके घर पे रहने लगे,कुछ दिन बाद पंडित ने उनको एक फ़िल्म में रखवा दिया और यही से शुरू हुआ कुमार नीरज का असली सफर….इसके बाद कुमार नीरज ने फिर पीछे मुड़ के नही देखा,और अपनी पहचान बनाकर u tv जॉइन कर ली… कुछ साल बाद उनका एक्सीडेंट हो गया और उन्होंने zee नेक्स्ट chanel join कर लिया, जो जल्दी बंद हो गया,फिर कुछ साल बाद वो बोहरा ब्रोस प्रोडक्सन जॉइन किया और वही से अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस शुरु करने की सोची,कुछ दिन बाद उनको पता चला के उनके भाई को केंसर हो गया है ओर उनके फैमली पे दुखो का पहाड़ टूट पड़ा,भाई को मुम्बई में इलाज कराकर उनको बिहार छोड़ने गए,कुछ फैमली प्रॉब्लम से वो कुछ साल वही रुक गए,ओर उनकी सादी खुश्बू सिंह से हो गयी,,

फिर कुछ महीना गुजर ही था के उनके बड़े भाई को अचानक ब्रेनहेमरेज होगया,कुमार इससे ऊपर ही पाते तभी उनका केंसर वाले भाई भी चल बसे, उनके जाने के कुछ महीने बाद उनकी माँ भी गुजर गई 2 साल में 3 लाश घर मे देख चुके कुमार नीरज को अंदर से तोड़ दिया,पर कुमार नीरज ने खुद को संभाला और धीरे धीरे सब ठीक करते हुए मुम्बई जाने की तैयारी करने लगे तभी एक प्रोड्यूसर जो एक भोजपुरी फ़िल्म बनाने चाहता था कुमार नीरज के साथ मिलकर फ़िल्म शुरू कर दिया सारी यूनिट मुम्बई से आगई ओर प्रोड्यूसर गायब हो गया क्योंकि उसको खुद  हीरो बनना था और उसके भतीजे को विलेन जो कुमार नीरज को मंजूर नही था…

उसके अचानक भाग जाने से कुमार नीरज को दिमाग ही हिल चुका था वो भगवान पे अपना गुस्सा निकल रहे थे कि तभी भगवान ने उनकी सुन ली और उनके ससुर राजकिशोर सिंह का कॉल आ गया जो उस टाइम अपनी मंझली बेटी का कही रिश्ता देख के आये थे उन्होंने ये खबर देने के लिए नीरज को फोन किया था… कुमार नीरज की उदासी बाली आवाज सुन राजकिशोर सिंह को समझते देर नही लगी,कुमार नीरज ने प्रोड्यूसर भागजाने की बात राजकिशोर सिंह को बताई,

कुछ देर बाद राजकिशोर सिंह सीधे अपने बैंक जाके 5 लाख कैश निकल कर शूट पर पहुंच गए और बोले शूट मत रोको ,उसी टाइम शूटिंग देखने कुमार नीरज की बड़ी बहन मुन्नी सिंह भी आई हुई थी,फिर राजकिशोर सिंह से सारी बात सुनने के बाद वो अपने छोटे भाई को मदद करने को मन बना लिया ओर उस फिल्म की प्रोड्यूसर बन गईं,6 लाख रुपये वो उसी टाइम कुमार नीरज के ac में ट्रांसफर करा दिया ओर इस तरह राजकिशोर सिंह और मुन्नी सिंह के सहयोग से परेशानी को दूर कर  कुमार नीरज की पहली भोजपुरी फ़िल्म बनी,,

    

उसके बाद कुमार नीरज कई शॉर्ट फिल्म ओर ad बना चुके हैं,और अब उनके लिखे बिहार के बाहुबली पर आधारित फ़िल्म गैंग्स ऑफ बिहार हिंदी फिल्म डायरेक्ट करने जा रहे है,उसमे स्टार कास्ट है मुकेश तिवारी,गुरलीन चोपड़ा,राजवीर सिंह ,नाजनीन पटनी,अंजलि अग्रवाल, सुप्रिया पांडेय,मुस्कान वर्मा,जय प्रकाश शुक्ला,रतन राठौर,श्रीकांत प्रत्युष, राजीव झा,संजीव सकून,राकेश गिरि, मृत्युंजय,औऱ नवनीत हैं…

गैंग्स ऑफ बिहार जो लॉक डाउन होने के  बजह से शूटिंग में देर हो गई है,कुमार नीरज और भी एक नई हिंदी फिल्म का प्रोजेक्ट करने वाले हैं,,उससे में भी ये बड़े स्टार्स के साथ काम करेंगे,पूछने पर कुमार नीरज ने बताया के अगर हौसला ओर जुनून हो तो कोई भी काम किया जा सकता है,अपने 20 साल के कड़े जूनूनी मेहनत को वो आगे भी जारी रखगें ,,अब देखते है गैंग्स ऑफ बिहार पर्दे पे कब आती है.