nav-left cat-right
cat-right

RSS Chief Mohan Bhagwat Launches Muslim Scholar’s Book The Meeting of Minds...

5 July 2021, Ghaziabad: “There is a need to guard against fear-mongering that the Rashtriya Swayamsevak Sangh is against minorities or that Islam is in danger in India. I believe that the DNA of the people of India is the same and that both Hindus and Muslims are one entity,” said Dr Mohan Rao Bhagwat, Sarsanghchalak, RSS, on Sunday at the Kitaab book launch event where he unveiled Dr Khwaja Iftikhar Ahmed’s book – “The Meeting of Minds: A Bridging Initiative”. The book launch at Ghaziabad was organized by Prabha Khaitan Foundation of Kolkata in association with Muslim Rashtriya Manch and presented by Shree Cement.

“When people speak about the need for Hindu-Muslim unity, we say we are already one, we are not separate,” Bhagwat said.

Leading professors, scholars, students and eminent personalities from across the globe attended the event that was streamed live. “This is a historic moment as intellectuals meet at one point. The book, which took me eleven months to write, is an honest straight forward account of economics, politics, emotional and many other aspects that determine our national interest; and the fate of tomorrow’s India. We need dialogue and not deadlock, there should be trust and brotherhood among Hindus and Muslims and together we shall make India the `Vishwa Guru’,” said author Dr Khwaja Iftikhar Ahmed who is revered scholar, philosopher and academic.

“Honesty, integrity and credibility are the hallmarks of any relationship and would guide all the future actions and initiatives. He lamented that secular politics of today has brought us to a dead end. If there is no organisation, there is no ideology; if there is no ideology, there are no ideologue; if there are no ideologue, there is no direction; if there is no action and instead of response people react,” said, Dr Khwaja, whose book is now available in English, Hindi and Urdu.

Dr Khwaja lavished praised on Prime Minister Narendra Modi, “We are lucky to have one of the most decisive prime minister ever. He calls a spade a spade and takes firm decisions.”

Dr Mohan Bhagwat said that political parties cannot act as tools to either help unite people or deepen the divide but can influence it. Allaying fears that a majoritarian sentiment is gaining ground in India, he said when atrocities take place against the minorities, voices in protest come from the majority itself. “If anyone says that Muslims should not stay in India then he is not a Hindu,” Bhagwat said.

Alluding to violence against minorities by alleged cow vigilantes, Bhagwat said that though cows are revered in India, violence in the name of cow protection cannot be condoned. “Law should take its course. They should investigate without partiality and punish the guilty. Anyone who is involved in lynching is not a Hindu,” he said.

  

Kitaab is an initiative of Prabha Khaitan Foundation which provides a forum for book launches by connecting intellectuals, book lovers and litterateurs with authors. Eminent authors like Shashi Tharoor, Vikram Sampath, Salman Khurshid, Kunal Basu, Vir Sanghvi, Vikas Jha, Luke Kutinho, Jeffrey Archer,Devdutt Patnaik, Anupam Kher, Ram Madhav, Guru Prakash Paswan, Sanjaya Baruand others have earlier had book launching sessions at Kitaab.

Producer Vijay Thakur’s Film BAIKUNTH Released On Amazon Prime Getting Audience Love...

निर्माता विजय ठाकुर की फिल्म “बैकुंठ” Amazon Prime पर रिलीज दर्शकों का मिल रहा प्यार

एक बहुत बड़ी चुनौती तो ले ही चुका था लेकिन इसका परिणाम क्या होगा कुछ पता नहीं था,लोग कहते थे आजकल दर्शक नाटक तो देखने जाते ही नहीं तो साहित्य पर आधारित आपकी फिल्म देखने कौन जाएगा ? लेकिन दर्शकों के बेशुमार प्यार ने इस बात को झूठला दिया और यह साबित कर दिया कि अगर साहित्य पर आधारित अच्छी सिनेमा बने तो दर्शक आज भी दिल खोल कर इसका स्वागत करते हैं ।

उक्त बातें कहना है प्रेमचंद के उत्कृष्ट नाटक “कफन” पर आधारित फिल्म बैकुंठ के निर्माता विजय ठाकुर का ।

विजय ने बताया कि 13 मई को Mx Player पर  और 2 जुलाई को Amazon Prime पर फिल्म रिलीज होने के कुछ दिन बाद ही लाखों की तादाद में दर्शक इस फिल्म को अपना प्यार दिया । बतौर निर्माता यह मेरे लिए गर्व की बात है कि भारत के साथ-साथ विदेशों से भी मुझे कई सारे  फोन कॉलस आये और बधाइयां मिली ,अपनी फ़िल्म इंडस्ट्री के कई सारे सीनियर कलाकारों का स्नेह व आशीष भी मिला ।जिसमें श्री  पियुष मिश्रा जी, श्री मती नादिरा ज़हीर बब्बर जी , श्री अखिलेंद्र मिश्रा जी,श्री राज पाल यादव जी ,श्री जुही बब्बर सोनी जी,श्री आर्या बब्बर जी ,श्री यशपाल शर्मा ,श्री पंकज त्रिपाठी जी जैसे समान्नीय व्यक्तित्व का आशीर्वाद प्राप्त हो रहा है।

विजय ने बताया कि बॉलीवुड में घिसी- पिटी कहानियों पर फिल्म बनाने का चलन चल रहा है बॉलीवुड में साहित्य पर फिल्म बनाने का चलन तो है ही नहीं,यूं कहे कि कोई भी फिल्मकार यह चुनौती लेने के लिए तैयार ही नहीं है जो हिंदी साहित्य के साथ बहुत बड़ा अन्याय है ।

रंगकर्मी,लेखक, और निर्माता विजय ठाकुर की माने तो साहित्य हमारी सिनेमा का आधार है और आज हम इसे ही छोड़ रहे हैं यह सही नहीं है । हमने स्थिति-परिस्थितियों का सामना करते हुए “बैकुंठ” बनाया और आज परिणाम सबके सामने है आगे भी हम लोग अर्थपूर्ण सिनेमा बनाते रहेंगे।

बैकुंठ की पृष्ठभूमि घीसू और माधव नामक दो शख्स‌ की है । “बैकुंठ” प्रेमचंद्र के उत्कृष्ट नाटक में से एक “कफन”पर आधारित है ।’कफ़न’ में महान कहानीकार प्रेमचंद ने गांव में जातिवाद, भूमिहीन किसानों की दुर्दशा और समाज में व्याप्त आर्थिक असमानता को बड़ी ही मार्मिकता के साथ प्रस्तुत किया था. प्रेमचंद की इस कहानी में दर्ज इन्हीं जज्बात को उसी पुरजोर अंदाज़ में फिल्म ‘बैकुंठ’ में पेश किया गया है।

फिल्म ‘बैकुंठ’ का निर्माण रवि कुमार और विजय ठाकुर ने साझा तौर पर किया है और विश्व भानु ने बड़ी ही ख़ूबसूरती के साथ इस फिल्म‌ का लेखन और निर्देशन किया है. फ़िल्म  में सिनेमेटोग्राफ़र आशीष पांडे व संकलन साई राज ने बहुत लगन से अपना काम किया है. फिल्म‌ में मुख्य भूमिकाओं में वन्या, संगम‌ शुक्ला, विश्व भानु, विजय ठाकुर आदि अभिनय कौशल से दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब रहे हैं । उल्लेखनीय है कि इस फिल्म में गांव की ज़मीनी सच्चाइयों को दर्शाने के लिए गांव से जुड़े कलाकारों को ही तरजीह दी गई है।

उल्लेखनीय है कि ‘बैकुंठ’ 29  मार्च से Hungama play, Airtel xtream, VI movies and TV पर और 13 मई से MX Player और 2 जुलाई थे Amazon Prime के अलावा कुछ और ओटीटी प्लेटफार्म्स पर लाइव स्ट्रीम हो रही है ।

https://www.facebook.com/sahityatakofficial/videos/1323636638013093/

Director Atul Joshi shares his experience shooting for Candid Yaari by Mahreen Khan...

With a 32 years of experience in the creative industry, Atul Joshi is an example for today’s youth who carries an energy of a 20 year old. Since the 90s he has given his energy and time working for the distinguished Times of India, he has also dipped his toes in the fashion industry and even in the entertainment industry.

At the age of 53, he proudly goes onto do his directorial debut for the new chat show “Candid Yaari” hosted by Mahreen Khan. He talks about his process for the show as he likes to do things very meticulously. His planning starts a day prior with his team which he likes to keep it small and tight and choreographs the entire route from start to end. Like moving chess pieces on the board, he executes his debut like a professional who strives to achieve perfection in any given circumstances.

He also advices the young generation to never feel let down on failures as that is where one learns and gives only one advice and that is to have discipline in your life.

Worldwide Records Punjabi Will Be Releasing Rimmy’s Marriage Song Soon...

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी से जल्द आएगा रिम्मी का मैरिज सांग

सिंगर रिम्मी का जल्द ही वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी से ‘मैरिज’ सांग रिलीज होने जा रहा है। ये सांग 29 जून सुबह 9 बजे वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी के ऑफिसियल यूट्यूब चैनल पर रिलीज हो रहा है। सांग का फर्स्ट लुक आउट कर दिया गया है। जोकि सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। इस पोस्टर में सिंगर-एक्टर रिम्मी और एक्ट्रेस याशिका आनंद शादी के जोड़ा पहने नजर आ रहे हैं।

बात दें कि रिम्मी की संगीत यात्रा 12 साल की छोटी उम्र में शुरू हुई थी, जब उन्होंने अपने स्कूल के एक कार्यक्रम में कव्वाली गाई थी। यही वो क्षण था जब उन्हें इस बात का एहसास हुआ की उनकी रुचि संगीत में हैं और उन्होंने इसी क्षेत्र में आगे बढ़ाने का फैसला किया। इसके बाद उन्होंने औपचारिक प्रशिक्षण लिया है और वे गैरी संधू और देबी मखसूसपुरी से प्रेरित हैं तथा वे उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। वे भविष्य में संगीत की सभी विधाओं में काम करना चाहते हैं। वे संगीत के हर सुर पर काम कर रहे हैं।

रिम्मी का नया सांग ‘मैरिज’ एक खूबसूरत रोमांटिक गाना है। वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी द्वारा प्रस्तुत सांग ‘मैरिज’ के प्रोड्यूसर रत्नाकर कुमार हैं। गाने की कल्पना सुमित भारद्वाज ने की है। गीत के लेखक जग्गी बैंस है और संगीत ड्रीमबॉय का है। निर्देशक विनीत भारद्वाज द्वारा निर्देशित गाने में रिम्मी के साथ कदम से कदम मिलती नजर आएंगी अभिनेत्री याशिका आनंद है। एडिट एंड ग्रेड पवन कुमार(एडीफ्रामेज़),कोरियोग्राफर बूंटी वन टेकरस हैं। इस सांग के फुल राइट्स वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी के पास हैं।

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स पंजाबी के एमडी रत्नाकर कुमार ने कहा कि रिम्मी बहुत ही प्रतिभाशाली गायक होने के साथ-साथ बहुत ही होनहार हैं। उनकी आवाज में एक युवा अपील है। रिम्मी द्वारा गाया सांग ‘मैरिज’ 29 जून 2021 को केवल वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स पंजाबी आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर रिलीज हो रहा है। जिसमें उनकी आवाज का जादू सुनने को मिलेगा।

First Look Of Rahul-Reshma’s Film Tu Hi Yaar Mera Out Poster Going Viral On Social Media...

राहुल-रेशमा की फ़िल्म “तू ही यार मेरा” का फर्स्ट लुक हुआ आउट, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा पोस्टर

एम बी एंटरटेनमेंट और श्री मित्तल मूवीज के बैनर तले निर्मित फिल्म तू ही यार मेरा का फर्स्ट लुक लांच करते ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस फ़िल्म के जरिये केंद्रीय भूमिका में रैबल हीरो राहुल सिंह और ग्लैमरस अदाकारा रेशमा शेख एक बार फिर फुल टू धमाल मचाने आ रहे हैं। फ़िल्म की निर्मात्री मधु लता मित्तल, मदीना बानो और सह निर्माता साहिल कुरेशी हैं। इस फिल्म का कुशल निर्देशन टैलेंटेड डायरेक्टर मंजूर अली कुरैशी ने किया है, जिन्होंने अपने अमेजिंग डायरेक्शन से बहुत ही बेहतरीन फ़िल्म की मेकिंग की है।

गौरतलब है कि फ़िल्म “तू ही यार मेरा” का फर्स्ट लुक काफी यूनिक और कलरफ़ुल है। फ़िल्म के हीरो राहुल सिंह इसमें बांसुरी बजाते नजर आ रहे हैं। वहीं हीरोइन रेशमा शेख बहुत सारे आभूषण पहने दुल्हन के लुक में दिख रही हैं। पोस्टर में अयाज़ खान एक अलग लुक में दिख रहे हैं। फ़िल्म में एक बच्चे की भी महत्वपूर्ण भूमिका प्रतीत हो रही है क्योंकि फर्स्ट लुक में चाइल्ड आर्टिस्ट की एक झलक भी नजर आ रही है। पोस्टर के बैकग्राउंड में भव्य महल और मंदिर भी दिखाई दे रहे हैं। चूंकि पूरी फिल्म की शूटिंग भव्य पैमाने पर राजस्थान में की गई है इसलिए वहां की भव्य लोकेशन्स भी फ़िल्म में देखने को मिलेगी।

आपको बता दें कि राहुल रेशमा की रोमांटिक जोड़ी सुपरहिट फ़िल्म प्लेटफॉर्म नं. 2 से हिट चली आ रही है। ऐसे में इस फ़िल्म को लेकर सभी लोग काफी उत्साहित हैं। फ़िल्म से सबको ढेर सारी उम्मीद हैं कि रिलीज के साथ ही यह फ़िल्म दर्शकों द्वारा काफी पसंद की जाएगी।

फिलहाल इसका पोस्ट प्रोडक्शन कार्य तेजी से किया जा रहा है। यह फ़िल्म रोमांटिक होते हुए भी एक एक्शन ड्रामा फ़िल्म है, जो इसी साल बड़े पर्दे पर रिलीज की जाएगी। यह भोजपुरी फ़िल्म मनोरंजन से भरपूर हैं। फिल्म के क्रिएटिव हेड मुकेश तिवारी हैं। लेखक शुऐब अंसारी, संगीतकार सावन कुमार हैं।

सिंगर आलोक कुमार, मोहन राठौर, प्रियंका सिंह, इंदु सोनाली, अल्का झा, ममता राउत, शिल्पी राज इत्यादि हैं। डीओपी हितेश बेलदार, परेश पटेल, फाइट मास्टर राजू महबूब, डांस मास्टर दीपक तुरी, ड्रेस डिज़ाइनर रिज़वाना बानो, मेकअप आर्टिस्ट शिवानी कक्कड़ हैं। फ़िल्म प्रचारक रामचन्द्र यादव हैं। मुख्य कलाकार राहुल सिंह, रेशमा शेख, अयाज खान, मंजूर अली कुरेशी, तौहीद कुरेशी, अनूप, जय यादव, सतीश कुमार, कैलाश सोनी, अंजुम खान, अनुपम, निशा इत्यादि हैं।

 

Producer Aditya Sharma Sad song star Prashant Bhatt Kriti Verma Swapna Pati directed by Vikas Phadnis...

Whenever we feel low, we often want to listen to sad songs. Hindi sad songs make us feel associated instantly and give us a sense of belongingness too. These Hindi sad songs are evergreen and we feel like singing and humming them every now and then. Some of the famous Bollywood Hindi sad songs are our instant favourites. Adinic Action Films & Music world Pvt. Ltd. is coming up with another sad song “SAWARE” directed by Vikas Phadnis. Adinic films owned by Nicky and Aditya Sharma. Saware the beautiful lyrics penned by young producer R.K Sharma known as Aditya Sharma. Director Vikas Phadnis roped Actor Prashant Bhatt and two beautiful actresses Kriti Verma, Swapna Pati for song which is soon to be released. The beautiful song sung and Music Directed by Pankaj Saini.

While talking to the media Young producer and Lyricist Aditya Sharma said, “Its great pleasure for me I have started my production house. Now I’m producing First song Saware and shooting has been finished in Mumbai. I’m also working on some other project under the banner of Adinic Action Films & Music World Pvt. Ltd.. The production house will open the doors for new talents, writers, director and technician with the help of them I’m planning to come up with something creative and big project”.

Vikas Phadnis is a director and producer, known for Khel Toh Ab Shuru Hoga (2016) and Veerat Veer Maratha. “It was great collaborating with Prashant and a Bollywood beautiful girl. They are extremely dedicated to their craft. They did not even bother about the late-night routine and skipped their lunch and concentrated on giving their best to the one-day shoot. They were full of energy and enthusiasm all the time. I would like to thanks Adity Sharma for his dedication and trust.”

   

Sometimes in life one just needs to cry it out. In these situations, nothing helps like music and nothing helps as much as the top sad songs of Bollywood saware would be the best song of the year.